धर्मशाला के कुछ अद्भुत रहस्य और घूमने के स्थान- हिमाचल प्रदेश पर्यटन

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी है अन्य शब्दों में कहा जाए तो धर्मशाला सर्दियों के समय की हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी है जबकि पहली राजधानी गर्मियों के समय के लिए शिमला है और धर्मशाला को स्मार्ट सिटी बनाने का कार्य प्रगति पर है तो इसी के साथ में जानते हैं धर्मशाला के बारे में कुछ अद्भुत रहस्य और घूमने के लिए कुछ प्रसिद्ध स्थान

1. HPCA Stadium- HPCA  Stadium  के बारे में तो आप जानते ही होंगे यह हिमाचल प्रदेश का पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है जो दुनिया का सबसे ऊंचाई पर स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है इसका पूरा नाम हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम है यहां पर पहला वनडे मैच 2013 में भारत और इंग्लैंड के बीच में हुआ था जबकि पहला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच 2015 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच में हुआ था

हिमाचल प्रदेश पर्यटन,HPCA Stadium

2. War Memorial-  यहां मेमोरियल धर्मशाला के शुरुआत में ही है और यह बहादुरी से लड़े गए जवानों की यादगार के रूप में बनाया गया है यह मेमोरियल देवदार के जंगलों के बीच में बहुत ही खूबसूरत प्राकृतिक जगह पर स्थित है जो पर्यटकों को आकर्षित करता है इस वार मेमोरियल में जंग के दौरान शहीद हुए सभी सैनिकों के नाम स्थित है यह वार मेमोरियल धर्मशाला में एचपीसीए क्रिकेट स्टेडियम के साथ ही मैं स्थित है

3. McLeod Gang- यह एक पहाड़ पर भारत की सरकार द्वारा बताए गए तिब्बतियों का एक छोटा सा गांव है जो समुद्र तल से 18 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है यह जगह कांगड़ा से 19 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यहां पर भगवान बुध का बहुत ही खूबसूरत मंदिर है यहां पर आपके घूमने के लिए भागसुनाग वॉटरफॉल और भागसुनाथ का मंदिर स्थित है यह तिब्बती हस्तशिल्प और वस्तुओं की खरीद करने के लिए बहुत ही प्रसिद्ध जगह है 

4. Bhagsu Waterfall-  यह जगह पानी का एक प्राकृतिक झरना है जो मैकलोडगंज से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और भागसुनाथ टेंपल से 200 मीटर की दूरी पर स्थित है यहां पर आने वाले यात्री इस प्राकृतिक झरने में तैराकी का आनंद लेने के बाद भगवान शिव के मंदिर में पूजा करने जाते हैं भागसुनाथ का मंदिर भगवान शिव का एक बहुत ही खूबसूरत मंदिर है जो पर्यटकों को बहुत ही ज्यादा आकर्षित करता है और पर्यटक यहां पर घूमने का आनंद प्राप्त करते हैं

5. Rock Cut Tample- यह मंदिर कांगड़ा से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है 15 शिखर वाली यह संरचना गुफाओं के अंदर में स्थित है जो मसरूर मंदिर के रूप में जाना जाता है 10 वीं शताब्दी में बना यह मंदिर पत्थरों के ठोस टुकड़ों से बना है जो देखने में बहुत ही मनमोहक मनमोहक लगता है और इसकी संरचना के कारण इसे Alice of Himachal Pradesh Vikas Jata Hai yah Alice ऑफ हिमाचल प्रदेश में कहा जाता है यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है

6. Dalai Lama Tample-  यह मंदिर हर साल लाखों पर्यटकों को आकर्षित करता  है यह मंदिर मैक्लोडगंज में स्थित है जो सूर्य उदय से लेकर सूर्यास्त तक खुला रहता है यह मंदिर बौद्ध धर्म की आध्यात्मिक शिक्षा को प्रदान करता है इस मंदिर में सुबह की प्रार्थना का विशेष महत्व है

7. Triund Hill- यह छोटे से पहाड़ पर एक खूबसूरत सी जगह है जो कि कांगड़ा से 25 किलोमीटर की दूरी पर और धर्मशाला से सातारा किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यह जगह पर्यटकों के बीच में बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हैं इस जगह को धर्मशाला का मुकुट या सरताज भी कहा जाता है इस जगह पर पहुंचने के लिए आपको 6 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ेगी इस छोटे से पहाड़ पर यात्रियों के रुकने के लिए पूरा प्रबंध किया गया है ताकि यात्री पहाड़ों की खूबसूरती और पर्यावरण का आनंद ले सकें यहां से मून चोटी और मून दर्रे का मनोरम दृश्य देखने को मिलता है

Triund Hill

8. Namgyal Monastery- यह मात्र 16 शताब्दी में दलाई लामा द्वारा बनाया गया था या मत पहले तिब्बत में था फिर तिब्बत विद्रोह के बाद इसे धर्मशाला में शिफ्ट किया गया यह मत तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा का गढ़ है और यह तिब्बत के बाद में सबसे बड़ा मठ है इस मठ के अंदर 200 बिकसू और भी रहते हैं

यदि आप चंबा पर्यटन के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो दिए गए लिंक पर क्लिक करें

9. Kangra Fort - यह भारत और हिमाचल प्रदेश का सबसे पुराना किला है जिस पर गौर खाओ अंग्रेजों और अन्य कई शासकों द्वारा शासन किया गया इसका निर्माण 15 वी सताब्दी में राजा तू शर्मा द्वारा किया गया था जिन्होंने महाभारत में कौरवों का समर्थन में अपनी सेना भेजी थी अंग्रेजी शासनकाल के दौरान 1905 में आए भूकंप के कारण इस किले को काफी नुकसान हुआ था इस किले का रखरखाव रॉयल फैमिली और हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा किया जाता था सन 2002 में रॉयल फैमिली के द्वारा इस किले की इतिहास और पुरानी चीजों को बनाए रखने के लिए एक म्यूजियम का निर्माण किया गया जिसके अंदर उस समय यूज होने वाले हथियार और चांदी के सिक्के इत्यादि रखे गए हैं इस किले को नगरकोट भी कहा जाता है यह किला करीब 350 फीट की ऊंचाई पर स्थित और 4 किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है जो सिख अवधि का माना जाता है इसके लिए मैं आप वॉच टावर आदित्य नारायण मंदिर लक्ष्मी नारायण मंदिर अंबिका देवी मंदिर आदि देख सकते हैं ऐसा माना जाता है कि जब महान यूनानी शासक अलेक्जेंडर ने हमला किया था तब भी यह किला मौजूद था यह किला धर्मशाला से 25 किलोमीटर और कांगड़ा से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है

10. Del Lake-  डल लेक समुद्र तल से 18 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जो कि धर्मशाला से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो पूरी तरह से देवदार के जंगलों से घिरी हुई है हर साल यहां सितंबर में वार्षिक मेले का आयोजन किया जाता है यहां पर पास ही में एक मंदिर भी स्थित है जो ऋषि दुर्वासा को समर्पित है इस जगह को मैकलोडगंज और धर्मशाला घूमने के लिए स्टार्टिंग प्वाइंट भी कहा जाता है

यदि आप हिमाचल प्रदेश में घूमने के लिए कुछ अन्य खूबसूरत टूरिस्ट प्लेसिस के बारे में जानना चाहते हैं तो आप इस दिए गए लिंक पर क्लिक  करें

          

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

If you have any dought plz let me know